नई दिल्ली

पंजाब सरकार में मंत्री और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू बयानबाजी के कारण लगातार सुर्खियों में बने हुए हैं. इसी बयानबाजी के कारण अब वह अपनी सरकार के मंत्रियों के निशाने पर भी हैं. सिद्धू ने हाल ही में बयान दिया कि उनके कैप्टन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह नहीं बल्कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी हैं. जिसके बाद पंजाब सरकार के कई मंत्रियों ने सिद्धू का इस्तीफा मांगा है. सोमवार (आज) पंजाब कैबिनेट की बैठक है, ऐसे में इस मुद्दे पर कोई बड़ा फैसला हो सकता है.

'सबके सामने नहीं धोते मैली चादर'

बैठक से पहले नवजोत सिंह सिद्धू ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ चल रहे विवाद पर पहली बार सफाई दी है. राजस्थान के झालावड़ में मीडिया से सिद्धू ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह उनके पिता के समान हैं, वह उनका सम्मान करते हैं. जो भी विवाद है वह उनसे मिलकर सुलझा लेंगे.

अपने ही अंदाज में सिद्धू ने कहा कि मैली चादर को सबके सामने नहीं धोया जाता है, इसलिए वह कैप्टन से मिलकर ही इस विवाद को सुलझा लेंगे.

दरअसल, सोमवार दोपहर को कैबिनेट मीटिंग है. कहा जा रहा है कि इससे पहले कुछ मंत्री अलग से बैठक कर इस मुद्दे को कैबिनेट में उठाने का फैसला कर सकते हैं. सिद्धू से या तो बयान वापस लेने को या माफी मांगने को कहा जा सकता है अन्यथा मंत्री पद से इस्तीफे की बात भी मनवाई जा सकती है.

Source : Agency