जयपुर 
राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए मतदान में कुछ ही दिन शेष बचे हैं. इसकी वजह से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और कांग्रेस ने प्रचार में पूरी ताकत झोंक दी है. लेकिन इस दौरान नेताओं के विवादित बयानों के सामने आने का सिलसिला भी जारी है. इस बार मोदी सरकार में केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री डॉ. महेश शर्मा का नाम इस सूची में शामिल हो गया है.

महेश शर्मा ने उदयपुर में बातचीत के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व पर सवाल उठाया. उन्होंने कहा, 'हमारा अध्यक्ष हमारा लीडर होता है, लेकिन जहां लीडरशिप 10 अकबर रोड, 7 अकबर रोड या फिर 7 जनपथ रोड से पैदा होती है, वहां नेता और कार्यकर्ता पैदा नहीं हो सकते हैं, वहां तो गायक और भांड पैदा होते हैं, यह लोग वहीं पैदा हो सकते हैं.'

राहुल गांधी पर निजी हमला करते हुए महेश शर्मा बोले कि आखिर यह पप्पू की डिग्री उन्हें हमने थोड़ी ही दी है. उसे तो जनता ने दी है. कांग्रेस अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए महेश शर्मा ने कहा कि कांग्रेस का कोई भी नेता राहुल गांधी को अपना लीडर मानने में शर्मिंदगी महसूस करता है. लेकिन मजबूरी में नेता मान रहा है.

चुनाव प्रचार के लिए राजस्थान में डेरा डाले हुए महेश शर्मा ने कहा कि राज्य में भी कांग्रेस की यही स्थिति है. अगर मुख्यमंत्री के उम्मीदवार का नाम सामने आए जो तो पार्टी दो हिस्सों में बट जाएगी.

बता दें कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सीपी जोशी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जाति पर उठाया था जिसके बाद उन्हें सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी पड़ी थी और पार्टी ने उन्हें फटकार भी लगाई. पीएम मोदी ने भी उनके बयान को लपकते हुए अपनी रैलियों में प्रमुखता से उठाया. जिसकी वजह से पार्टी की किरकिरी हुई.

Source : Agency