बुलंदशहर
 उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में हुई हिंसा में मरने वाले छात्र सुमित के पिता ने मृतक का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया है। उन्होंने सरकार से 50 लाख मुआवजा, सरकारी नौकरी, माता-पिता को पेंशन और मृतक को शहीद का दर्जा दिए जाने की मांग की है।

 जानकारी मुताबिक सुमित का शव उसके घर पहुंचा। गांव में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है। गांव में पुलिस के साथ-साथ भाजपा नेताओं का भी जमावड़ा लगा हुआ है। आज सुमित के शव का पोस्टमार्टम किया गया लेकिन उसकी रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं किया गया।
 मृतक सुमित के पिता ने मांग पूरी ना होने पर भूख-हड़ताल करने की चेतावनी दी है। उल्लेखनीय है कि बुलंदशहर जिले के एक गांव में गन्ने के खेत में बड़े पैमाने पर गोकशी के अवशेष मिलने से हिंदू संगठनों में आक्रोश फूट गया। आक्रोशित भीड़ और पुलिस के बीच हुई झड़प में गोली लगने से स्‍याना थाने के इंस्‍पेक्‍टर सहित फायरिंग में घायल युवक सुमित की मौत हो गई थी।

Source : Agency