लखनऊ

 उत्तर प्रदेश में भाजपा की सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने आरोप लगाया कि बुलंदशहर हिंसा में विहिप और बजरंग दल के लोगों का हाथ था। पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि बुलंदशहर की दुर्भाग्यपूर्ण घटना के लिए विहिप और बजरंग दल जिम्मेदार हैं। वे कानून का पालन नहीं करते, इसलिए उन्हें प्रतिबंधित किया जाना चाहिए। राजभर योगी आदित्यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं।
 उन्होंने कहा कि विहिप और बजरंग दल केवल हिन्दू-मुसलमान के बीच दरार पैदा करते हैं। यह सब कुछ 2019 के लोकसभा चुनावों के मद्देनजर हो रहा है।राजनीतिक फायदे के लिए मंदिर-मस्जिद का मुद्दा उछाला जाता है। राजभर ने कहा कि वह अपने कर्तव्य का पालन करेंगे और मुख्यमंत्री को वास्तविकता का अहसास कराने का प्रयास करेंगे। उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि बसपा प्रमुख मायावती और सपा मुखिया अखिलेश यादव ने राज्य को ठीक से नहीं चलाया। अगर वे ठीक से राज्य को चलाते तो ऐसी स्थिति नहीं आती।
 विहिप प्रवक्ता शरद शर्मा ने राजभर के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि जब उच्चस्तरीय जांच हो रही है, तो ऐसे में प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री राजभर द्वारा विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल पर आरोप लगाना और प्रतिबंधित करने की मांग करना, उनकी ‘मानसिक विक्षिप्तता’ को उजागर करता है। उन्होंने कहा कि लगता है राजभर घटनास्थल पर स्वंय मौजूद थे। तभी उन्हें विश्व हिन्दू परिषद और बजरंग दल जैसे धार्मिक सामाजिक संगठन इस घटना के पीछे दिख रहे हैं।

Source : Agency