अक्सर ऐसा होता है कि लगातार कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। आज आपको ज्योतिष के अनुसार ऐसे प्रयोग बताने वाले हैं, जिनको करने के बाद जिंदगी में रुके हुए काम प्रारंभ हो जाएंगे और संकटों से मुक्ति मिल जाएगी।

अक्सर ऐसा होता है कि लगातार कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। आज आपको ज्योतिष के अनुसार ऐसे प्रयोग बताने वाले हैं, जिनको करने के बाद जिंदगी में रुके हुए काम प्रारंभ हो जाएंगे और संकटों से मुक्ति मिल जाएगी। धन की कमी भी दूर हो जाएगी। कई काम ऐसे होते हैं जो बनते-बनते बिगड़ जाते हैं। कार्य सिद्धि के लिए-रुके हुए कार्यों की सिद्धि के लिए गणेश चतुर्थी को गणेश जी का ऐसा चित्र घर या दुकान पर लगाएं जिसमें उनकी सूंड दाईं ओर मुड़ी हुई हो। इसकी आराधना करें। इसके आगे लौंग या सुपारी रखें। लौंग को चूसें और सुपारी को वापस लाकर गणेश जी के आगे रख दें और जाते हुए कहें ‘जय गणेश काटो कलेश’।

गणेश जी कि प्रतिमा पर 11 अथवा 21 दूर्वा का मुकुट बनाकर बुधवार को 4 से 6 बजे के बीच सूर्यास्त से पहले चढ़ाएं।

बिगड़े काम बनाने के लिए बुधवार को इस गणेश मंत्र का स्मरण करें-
त्रयीमयायाखिलबुद्धिदात्रे बुद्धिप्रदीपाय सुराधिपाय। नित्याय सत्याय च नित्यबुद्धि नित्यं निरीहाय नमोस्तु नित्यम्।

बुधवार के दिन घर में सफेद रंग के गणपति की स्थापना करने से सभी प्रकार की तंत्र शक्ति का नाश होता है व ऊपरी हवा का असर भी नहीं होता।

धन की कामना के लिए बुधवार के दिन श्री गणेश को घी और गुड़ का भोग लगाएं। थोड़ी देर बाद घी व गुड़ गाय को खिला दें। ये उपाय करने से धन संबंधी समस्या का नाश हो जाता है।

परिवार में कलह-कलेश हो तो बुधवार के दिन दूर्वा के गणेश जी की प्रतिकात्मक मूर्ति बनवाएं। इसे अपने घर के मंदिर में स्थापित करें और हर रोज इसकी विधि-विधान से पूजा करें।

घर के मुख्य दरवाजे पर गणेश जी की प्रतिमा लगाने से घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है। कोई भी नकारात्मक शक्ति घर में प्रवेश नहीं कर पाती इसलिए घर के मुख्य द्वार पर गणेश जी की प्रतिमा लगानी चाहिए।

Source : Agency