एडिलेड 
भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने बुधवार को कहा कि बॉल टैंपरिंग विवाद के बाद भी ऑस्ट्रेलियाई टीम को हल्के में नहीं लिया जा सकता। कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया में अपनी पहली टेस्ट सीरीज जीतने का प्रयास करेगी। कोहली ने इसके साथ ही भारतीय गेंदबाजों को संदेश दिया कि टीम में ऑलराउंडर की कमी के कारण उन्हें अतिरिक्त कोशिश करनी होगी और इसे वह अलग काम के तौर पर न देखें। उन्होंने कहा कि गेंदबाजों को 5 या 6 विकेट लेने के निजी रेकॉर्ड के बजाय एक अच्छे स्पैल पर फोकस करना होगा।  


बता दें कि ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच टेस्ट सीरीज का पहला मैच गुरुवार से ऐडिलेड में खेला जाएगा। ऑस्ट्रेलियाई टीम टेस्ट क्रिकेट में फिलहाल बुरे वक्त से गुजर रही है। टीम के स्टार खिलाड़ी स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर एक साल का प्रतिबंध झेल रहे हैं। इनके बिना भारतीय टीम के पास ऑस्ट्रेलिया में सीरीज जीतने का सुनहरा मौका है।

गेंदबाजों को अतिरिक्त कोशिश का संदेश
टीम में ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या के न होने पर कोहली ने स्वीकार किया कि इशांत शर्मा की अगुआई में चौतरफा तेज आक्रमण को वे अतिरिक्त ओवर डालने होंगे, जो पंड्या के हिस्से में जाते। उन्होंने कहा, ‘हरफनमौला के नहीं खेलने से फर्क पड़ता है। हर टीम एक तेज गेंदबाज हरफनमौला चाहती है, जो फिलहाल हमारे पास नहीं है। हम सर्वश्रेष्ठ संयोजन लेकर नहीं उतर पा रहे हैं। हरफनमौला के नहीं होने से दूसरे गेंदबाजों को अतिरिक्त कार्यभार झेलना होगा। हम इस पर बात कर चुके हैं ।’ 
  
छह दिसंबर से भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज की शुरुआत हो रही है। ऑस्ट्रेलिया में हमेशा से गेंद और बल्ले के बीच अच्छी जंग देखने को मिलती है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच ऑस्ट्रेलिया में अब तक खेले गए मुकाबलों में क्या रहा है सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन

भारतीय कप्तान ने कहा, 'उनके पास घरेलू परिस्थितियों का फायदा उठाने और यहां अच्छा प्रदर्शन करने का जरूरी हुनर मौजूद है। हम उन्हें हल्के में नहीं ले सकते।' 

मुरली विजय को इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट में दोनों पारियों में शून्य पर आउट होने के बाद टेस्ट टीम से बाहर कर दिया गया था। उनके स्थान पर युवा ओपनर पृथ्वी साव को वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट मैच में मौका दिया गया था। लेकिन क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ प्रैक्टिस मैच में टखने में चोट लगने के कारण वह पहले टेस्ट मैच से बाहर हो गए। इस प्रैक्टिस मैच में विजय ने सेंचुरी लगाई और अब वह केएल राहुल के साथ पारी की शुरुआत करेंगे। 

भारतीय टीम ने अपने 12 खिलाड़ियों के नाम की घोषणा की है। अंतिम 11 खिलाड़ियों पर फैसला मैच के दिन ही लिया जाएगा। टीम प्रबंधन को यह तय करना है कि वह नंबर छह पर ऑलराउंडर हनुमा विहारी को मौका देंगे या फिर रोहित शर्मा को टीम में शामिल किया जाएगा। इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण की कमान संभालेंगे। इसके अलावा ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को भी अंतिम 11 में जगह मिलेगी। भुवनेश्वर कुमार और उमेश यादव पहले टेस्ट में नहीं खेलेंगे। 

Source : Agency