अयोध्या
उत्तर प्रदेश के अयोध्या में विवादित ढांचा ध्वस्त होने की 26वीं बरसी के अवसर पर सुरक्षा के कड़े बन्दोबस्त किए गए हैं तथा जिलें में धारा 144 लगा दी गई है। विवादित ढांचा गिराए जाने की बरसी के दिन 6 दिसंबर को हिन्दू संगठनों ने शौर्य दिवस तथा मुस्लिम संगठनों यौमे गम दिवस मनाने की घोषणा के बाद अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। जगह जगह चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। जिलें में धारा 144 लागू कर दिया गया है।

पुलिस अधीक्षक नगर अनिल कुमार सिसौदिया ने बताया कि 6 दिसंबर 1992 को विवादित ढांचा ध्वस्त होने की 26 वीं बरसी पर विभिन्न संगठनों ने कई कार्यक्रम आयोजित करने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि इस के मद्देनजर अयोध्या में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। उन्होंने बताया कि सुरक्षा के लिए स्थानीय पुलिस बल के अलावा 12 अपर पुलिस अधीक्षक, 15 पुलिस उपाधीक्षक , 40 उपनिरीक्षक, 50 थानाध्यक्ष, 80 सब इंस्पेक्टर, एक सौ कांस्टेबिल समेत 10 कंपनी पीएसी, एआरएफ की तैनाती की गई है।

विवादित श्रीरामजन्मभूमि परिसर के आसपास लगे सुरक्षा बलों को सतर्कता बरतने के लिए निर्देश दिए गए हैं। सिसौदिया ने बताया कि अयोध्या में आने वाले व्यक्तियों की कड़ी निगरानी की जा रही है। असामाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। अयोध्या के होटल, गेस्ट हाउस, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन एवं सराय पर भी आने-जाने वालों व ठहरने वालों की निगरानी के आदेश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि 6 दिसंबर को आयोजित सभी कार्यक्रमों की वीडियोग्राफी तथा फोटोग्राफी कराने के साथ-साथ सादी वर्दी में फोर्स तैनात की गई है। चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा कर्मी तैनात किए गए हैं।

Source : Agency