अयोध्या/नई दिल्ली         
6 दिसंबर, 1992 को अयोध्या में हुए बाबरी मस्जिद विध्वंस को आज 26 साल पूरे हो गए हैं. 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले राम मंदिर निर्माण का मुद्दा गर्माया हुआ है, ऐसे में बाबरी विध्वंस की बरसी पर अयोध्या में सुरक्षा बढ़ाई गई है. आज भारतीय जनता पार्टी अयोध्या के कारसेवक भवन में शौर्य दिवस मनाएगी, वहीं मुस्लिम पक्ष के लोग इस मामले के मुद्दई इकबाल अंसारी के घर काला दिवस मनाएंगे. अयोध्या के अलावा आज दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में विश्व हिंदू परिषद (VHP), शिवसेना इस अवसर पर कार्यक्रम करेंगे.

दिल्ली में क्या कार्यक्रम?
दिल्ली बीजेपी के उपाध्यक्ष जयप्रकाश अपने समर्थकों के साथ राम मंदिर निर्माण को लेकर झंडेवालान मंदिर में यज्ञ का आयोजन करेंगे. वहीं, शिवसेना भी आज जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करने वाली है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने हाल ही में सपरिवार रामलला के दर्शन भी किए थे. गौरतलब है कि कुछ ही दिन पहले विश्व हिंदू परिषद और संत समाज ने मिलकर अयोध्या में धर्म सभा का आयोजन किया था, इस दौरान हजारों की संख्या में लोग वहां जुटे थे. ऐसा ही एक कार्यक्रम 9 दिसंबर को राजधानी दिल्ली में होना है, जिसकी तैयारी जोरों से चल रही है.

मूर्ति बनवाएगी सरकार
सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अयोध्या को लेकर हाल में बड़ा ऐलान किया था. उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से श्री राम की 201 मीटर ऊंची मूर्ति बनाई जाएगी. हाल ही में इसकी एक तस्वीर भी जारी की गई थी.

सुप्रीम कोर्ट में है मामला
आपको बता दें कि एक तरफ कई पक्षों की तरफ से अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए केन्द्र सरकार पर दबाव बनाया जा रहा है, तो वहीं अभी रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद का मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है. सुप्रीम कोर्ट में इसको लेकर जनवरी, 2019 में सुनवाई होनी है. सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई आस्था के आधार पर नहीं बल्कि जमीन विवाद के हिसाब से हो रही है. गौरतलब है कि आज से 26 साल पहले अयोध्या में 6 दिसंबर को लाखों की संख्या में कारसेवकों ने अयोध्या पहुंचकर बाबरी मस्जिद को गिरा दिया. उग्र भीड़ ने तकरीबन 5 घंटे में ढांचे को तोड़ दिया. इसके बाद देश भर में सांप्रदायिक दंगे हुए और इसमें कई बेगुनाह मारे गए थे.

Source : Agency