मुंबई 
वैश्विक बाजारों में अनिश्चितता बढ़ने के बीच शेयर बाजारों में गुरुवार को लगातार तीसरे दिन गिरावट जारी रही। बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 572.28 अंक गिरकर (1.59%) 35,312 पर बंद हुआ जबकि निफ्टी में 181.75 अंकों की गिरावट (1.69%) दर्ज की गई और वह 10,601 पर बंद हुआ। आपको बता दें कि एशियाई शेयर बाजारों में कमजोरी के बीच उत्पादन नीति पर ओपेक की बैठक से पहले धातु एवं पेट्रोलियम क्षेत्र की कंपनियों के शेयरों में गुरुवार को भारी बिकवाली देखी गई। 


सुबह बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में ही करीब 300 अंक गिर गया था। निफ्टी भी 10,700 अंक के नीचे आ गया था। हुवावे की मुख्य वित्त अधिकारी मेंग वानझोउ के कनाडा में गिरफ्तार किए जाने और अमेरिका प्रत्यर्पण की खबरों के बीच अमेरिका और चीन के मध्य व्यापार मोर्चे पर शांतिपूर्ण बातचीत की संभावनाएं धूमिल होने से वैश्विक निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई। 

इससे पहले बुधवार को भी सेंसेक्स 249.90 अंक यानी 0.69 प्रतिशत गिरकर 35,884.41 अंक पर बंद हुआ था। इसी प्रकार, नैशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी शुरुआती दौर में 94 अंक यानी 0.87 प्रतिशत गिरकर 10,688.90 अंक पर आ गया था। गौरतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक ने बुधवार को प्रमुख नीतिगत दर (रेपो दर) में कोई बदलाव नहीं किया है, इससे घरेलू निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई। 

प्राथमिक आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने बुधवार को शुद्ध रूप से 357.82 करोड़ रुपये के शेयर बेचे जबकि घरेलू संस्थागत निवेशक 791.59 करोड़ रुपये के शुद्ध बिकवाल रहे। एशियाई बाजारों में, हॉन्ग कॉन्ग का हेंगसेंग सूचकांक शुरुआती कारोबार में 2.26 प्रतिशत, जापान का निक्केई 2.06 प्रतिशत और शंघाई कंपोजिट सूचकांक 1.28 प्रतिशत नीचे रहा। 

Source : Agency