लखनऊ
 बसपा सुप्रीमो मायावती ने सत्तारूढ़ बीजेपी पर करारा हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि लोगों को जाति के आधार पर बांटने के बाद बीजेपी अब देवी-देवताओं को भी बांटने में लगी है।

मायावती ने गुरूवार को भीमराव अंबेडकर की 63वीं पुण्यतिथि पर जारी किए गए बयान में कहा है कि बाबा साहेब ने भारत के संविधान में 'एक वोट- एक मूल्य' की अवधारणा देकर एक समतामूलक समाज की कल्पना की थी, लेकिन केंद्र में बैठी बीजेपी इस संविधान को फेल कर देना चाहती है। देश के किसान बीजेपी की नीतियों से परेशान हैं। यहां तक कि फसल बीमा योजना का असली लाभ गरीब किसानों को नहीं बल्कि कुछ अमीरों को हुआ है।

उन्होंने कहा कि देश में सर्वसमाज का हित बसपा की ’सर्वजन हिताय-सर्वजन सुखाय’ कीे नीति व सिद्धांत में ही निहित है। आजादी के लगभग 71 वर्षों बाद भी करोड़ों गरीबों, मजदूरों, किसानों, दलितों, पिछड़ों, मुस्लिम तथा अन्य धार्मिक अल्पसंख्यकों तथा अपरकास्ट के गरीबों का जीवन पूरी तरह से मजबूर, लाचार, गुलाम और हर प्रकार से त्रस्त है। इस अभिशाप को वोटों के माध्यम से बदलने की जरूरत महसूस की जा रही है।

Source : Agency