छत्तीसगढ़ में सत्ता बदली और कांग्रेस पार्टी यहां पर सत्तासीन हुई है. पुलिस परिवारों को सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस से उम्मीद की लहर जागी है. पुलिसकर्मियों के परिजन पुलिस मुख्यालय से लेकर गृहमंत्री से अपनी मांगों को पूरा कराने की दौड़ में जुट गए हैं. सत्तासीन कांग्रेस से पुलिसकर्मियों के परिजन काफी उम्मीद से उनकी तरफ देख रहे हैं. प्रदेश के सभी जिलों से पुलिसकर्मियों के परिजन गृहमंत्री और डीजीपी से मिलकर अपनी मांगों को सौंपा है, चाहे वो शहीद पुलिस परिवार महिला संगठन का हो या फिर सामान्य परिजन.

पुलिस परिवार के लोग चाहते हैं कि सप्ताह में एक दिन का अवकाश दिया जाना चाहिए. इसके साथ ही विभिन्न भत्तो की मांग की है. पुलिस परिवार की कुंती कोसरिया व चंचल टोप्पो का कहना है कि पुलिस परिवारों की मांग को पूरा किया जाना चाहिए. इसलिए पुलिस परिवार के लोग हर स्तर पर प्रयास कर रहे हैं. शासन व प्रशासन के सामने अपनी मांगों को रख रहे हैं.

वहीं पुलिस मुख्यालय की तरफ से पुलिस कर्मियों की मांगों को लेकर गठित की गई पुलिस कल्याण समिति ने सभी जिला पुलिस अधीक्षकों को पत्र जारी कर साप्ताहिक अवकाश, सातवें वेतन आयोग के अनुसार भत्ते, जिलों में पुलिस अस्पताल प्रारंभ कर विभिन्न पदों में डाक्टरों की नियुक्ति समेत 17 बिन्दुओं पर अभिमत मांगा है. डीजीपी डीएम अवस्थी ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देश मिलने के बाद इसको अमली जामा पहनाया जायेगा.

हालांकि यह बात पहले भी पुलिस विभाग के मुखिया कह चुके हैं. अब देखने वाली बात यह होगी कि आगे पुलिस विभाग इस ओर क्या कदम उठाता है. यह तो आने वाला समय ही तय करेगा, लेकिन विभाग ने अपनी पहल करनी शुरू कर दी है.

Source : Agency