इंदौर
मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को लोकसभा चुनाव की चिंता सताने लगी है. इसी क्रम में बुधवार से इंदौर में तीन दिन तक संघ की अहम बैठक हो रही है, जिसमें संघ के सह सरकार्यवाह मनमोहन वैद्य शिरकत करेंगे. इसके अलावा जिला स्तर के पदाधिकारी भी शामिल होंगे.

बैठक में दो माह बाद होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए स्वयंसेवकों को जिम्मेदारी दी जाएगी. गुरुवार को लगातार अलग-अलग विषयों के सत्र होंगे. इसमें चुनावी मुद्दे के अलावा संघ अपने कार्य विस्तार को लेकर भी बात करेगा.

लगातार घट रही शाखाएं और कई शाखाएं जो बंद हो गईं हैं उनमें स्वयंसेवकों की उपस्थिति न के बराबर है और कई स्वयंसेवक नेता हो गए हैं. नगर निगम से लेकर विधानसभा के चुनाव मे वे टिकट की दौड़ में सबसे आगे खड़े मिलते हैं. ये संघ के लिए चिंता का विषय है.

अब प्रदेश में सरकार नहीं है, जिसके चलते संघ फिर से अपने संगठनात्मक ढांचे को मजबूत करने का प्रयास कर रहा है. यही कारण है कि इस बैठक में बड़ा फोकस स्वयंसेवक और काम के विस्तार पर होगा. शहर के खातीवाला टैंक के सरस्वती शिशु मंदिर में यह बैठक हो रही है.

Source : Agency