भोपाल 
अध्यक्ष राहुल गांधी की सभा के लिए मंत्रियों को बसों से किसानों और कार्यकर्ताओं को सभा स्थल तक लाने का टारगेट दिया गया है। यह टारगेट प्रदेश कांग्रेस संगठन ने मंत्रियों को दिया है। मंत्रियों को अपने प्रभार वाले जिलों से इन लोगों को बसों से लेकर आना होगा। भोपाल के आसपास वाले जिलों के प्रभारी मंत्रियों को ज्यादा टारगेट मिला है। भोपाल और उसके आसपास के जिलों से 400 से ज्याद बसों में किसान और कार्यकर्ता को लाने के निर्देश दिए गए हैं। 

प्रदेश कांग्रेस ने सभी मंत्रियों को राहुल गांधी की सभा में भीड़ जुटाने का टारगेट पहले से ही दे रखा है। इस टारगेट को पूरा करने के लिए मंत्री बसों से अपने प्रभार वाले जिलों से बसों से किसान और कार्यकर्ताओं को लेकर आ रहे हैं। इसमें सबसे ज्यादा लोग लाने की जिम्मेदारी भोपाल जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. गोविंद सिंह के पास है। 

उन्हें ग्रामीण क्षेत्रों से 20 बसे लेकर सभा स्थल पर पहुंचना है। जंबूरी मैदान से दूर वाले शहरी हिस्से से भी वे बसों की व्यवस्था करेंगे, दस बसे शहर शहर में रहेगी। वहीं मंदसौर और नीमच के प्रभारी मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा को दोनों जिलों से 15-15 बसों से लोगों को लेकर आएंगे। विजय लक्ष्मी साधो धार और बड़वानी से बीस बसे लाने की जानकारी पीसीसी को दी गई है। 

इनके अलावा सागर, छतरपुर, गुना, अशोकनगर, इंदौर, देवास, उज्जैन, आगर, झाबुआ, अलीराजपुर, रतलाम, छिंदवाड़ा, बैतूल, होशंगाबाद, हरदा, रायसेन, विदिशा, सीहोर, राजगढ़ जिलों के प्रभारी मंत्रियों को भी करीब साढ़े तीन सौ बसों से किसानों और कार्यकर्ताओं को राहुल की सभा में लेकर आएंगे। 

Source : Agency