रायपुर 
नेपाल में आयोजित इंडो नेपाल अंतरराष्ट्रीय बाल बैडमिंटन चैम्पियनशिप में बालोद के खिलाड़ियों ने अपना दम-खम दिखाया और प्रदेश का नाम रोशन किया. चैम्पियनशिप में भारतीय टीम ने दमदार प्रदर्शन करते हुए मेजबान नेपाल की टीम को 3-0 हरा कर दिया और शानदार जीत अपने नाम की. भारतीय टीम की इस जीत में जिले के तीन खिलाड़ियों का अहम योगदान रहा है. जिले के तीन खिलाड़ियों का चयन भी भारतीय बाल बैडमिंटन टीम में हुआ था, जिन्होंने दमदार प्रदर्शन करते हुए यह प्रतियोगिता जिताने में अहम योगदान दिया. इस ऐतिहासिक जीत के बाद बालोद पहुंचने पर स्थानीय लोगों ने इन खिलाड़ियों का जोरदार स्वागत किया, लेकिन अभी तक शासन-प्रशासन से सहयोग नहीं मिलने की नाराजगी खिलाड़ियों के चेहरे पर साफ झलक रही थी.

नेपाल में 5 से 7 फरवरी तक आयोजित इस अंतरराष्ट्रीय बाल बैडमिंटन चैम्पियनशिप जीत कर पहली बार जब ये खिलाड़ी बालोद बस स्टैंड पहुंचे, तो बालोद बस स्टेंड पर ग्रामीणों और उनके परिजनों ने जोरदार स्वागत किया. सभी लोग तिरंगे झंडे लेकर बस स्टेंड में ही झूमने लगे.

पहली बार जिले की किसी खिलाड़ियों ने इस खेल में अंतरराष्ट्रीय मैच खेलकर जीत हासिल की, जिसकी खुशी में स्थानीय लोग खुशी जताते हुए खिलाड़ियों को बाजे-गाजे के साथ उनके गांव ले गए. जिले के तीन खिलाड़ी जिसमें ग्राम नेवारिकला की खुशबू, ग्राम टेकापार के गुलशन और  फत्ते राम शामिल हुए हैं और इस सीरीज में दमदार प्रदर्शन किया. वापस लौटने के बाद खिलाड़ियों में अपने देश के लिए खेलने की खुशी तो थी, लेकिन इनके मन में एक निराशा और दुख भी साफ झलक रहा है.

ये खिलाड़ी विदेश तक अपने देश के टीम का प्रतिनिधित्व करने गए थे और विदेशी जमीन पर तिरंगा भी लहराकर लौटे है, लेकिन इन्हें यहां तक जाने के लिए प्रशासन से मदद नहीं मिली और कर्ज से पैसे जुटाकर वे वहां तक पहुंचे थे.

Source : Agency