पेशावर
भारत के साथ संबंध सुधारने की दुहाई देने वाला पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है।  पुलवामा हमले के बाद भारत के साथ बढ़ी तल्खी को कम करने के लिए एक तरफ पाकिस्तान करतारपुर कॉरिडोर समझौते को आगे बढ़ाने के लिए अपना प्रतिनिधिमंडल  भारत भेज रहा है और दूसरी तऱफ  भारत में इस बैठक से चंद घंटे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने आतंकी हाफिज सईद के करीबी खालिस्तानी गोपाल सिंह चावला से मुलाकात की।

गोपाल चावला पाकिस्तान में रहकर भारत के खिलाफ अभियान चलाता है और पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (PSGPC) का जनरल सेक्रेटरी हैं। इससे पहले करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास के मौके पर उसने नवजोत सिंह सिद्धू से मुलाकात की थी, जो काफी चर्चा में थी। कुछ दिन पहले गोपाल चावला ने भारत के खिलाफ एक वी़डियो शेयर किया था और खालिस्तानी आतंकियों को समर्थन देने का खुला ऐलान किया था।

बता दें, करतारपुर कॉरिडोर को लेकर आज यानि गुरुवार को दोनों देशों के डेलिगेशन की मुलाकात हो रही है। इस बैठक में भारत सिख धर्म स्थलों का इस्तेमाल खालिस्तानी एजेंडे को बढ़ाने को लेकर भी ऐतराज जता सकता है। कुछ दिनों पहले पाकिस्तान में तीर्थयात्रियों को खालिस्तान समर्थक बैनर दिखाए गए थे। पाकिस्तान ने करतारपुर के गुरुद्वारा दरबार साहिब के देख-रेख का जिम्मा खालिस्तानी समर्थक रणजीत सिंह उर्फ पिंका को दिया गया है।
 
पिंका ने ही 1984 में इंडियन एयरलाइंस की श्रीनगर-दिल्ली फ्लाइट IC 405 को हाईजैक करके लाहौर ले गया था।इन दिनों वह पाकिस्तान में छिप कर बैठा है और वहीं से विदेशों में बैठे अन्य खालिस्तान समर्थकों के साथ मिलकर भारत के खिलाफ खालिस्तानी आतंकवाद के एजेंडे को आगे बढ़ाता है।

Source : Agency