भोपाल
 भोपाल संसदीय सीट से भाजपा ने दिग्विजय सिंह के खिलाफ साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को मैदान में उतारा है। दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर साध्वी प्रज्ञा का भोपाल में स्वागत किया है। इसके साथ ही उन्होंने हिन्दू आतंकवाद और भगवा आंतकवाद पर सफाई दी है। दिग्विजय सिंह ने कहा- मैंने कभी भगवा आंतकवाद जैसे शब्द का प्रयोग नहीं किया।

क्या कहा दिग्विजय सिंह ने
दिग्विजय सिंह ने सफाई देते हुए कहा- उन्होंने हिन्दू या भगवा आंतकवाद जैसे शब्दों का प्रयोग नहीं किया। पीसीसी में प्रबुद्धजनों से कहा कि उनके चुनाव लड़ने से भोपाल राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा का विषय बन गया है। बुद्धिजीवी वर्ग की जिम्मेदारी है कि वे विभाजन की कोशिशों को नाकाम करें।

प्रज्ञा ठाकुर का किया था स्वागत
साध्वी प्रज्ञा के बीजेपी उम्मीदवार बनने के बाद के बाद दिग्विजय सिंह ने कहा था- मैं साध्वी प्रज्ञा जी का भोपाल में स्वागत करता हूँ। आशा करता हूँ कि इस रमणीय शहर का शांत, शिक्षित और सभ्य वातावरण आपको पसंद आएगा। मैं माँ नर्मदा से साध्वी जी के लिए प्रार्थना करता हूँ और नर्मदा जी से आशीर्वाद माँगता हूँ कि हम सब सत्य, अहिंसा और धर्म की राह पर चल सकें। नर्मदे हर!

दिग्विजय ने कहा- विकास की बात करें
दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस प्रवक्ताओं से कहा कि उनको चुनाव में युवा, महिला और रोजगार के मुद्दे पर ही बात करनी है। भाजपा चुनाव को ध्रुवीकरण की तरफ ले जाना चाहती है, लेकिन हमें इस प्रोपेगेंडा में न फंसकर सिर्फ विकास की ही बात करें।

दिग्विजय ने बदली रणनीति
भाजपा ने लोकसभा चुनाव में साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को प्रत्याशी घोषित करने के बाद कांग्रेस ने भी रणनीति का रुख बदल लिया। जहां, कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह ने सिर्फ मुद्दे को अपना चुनावी एजेंडा बनाया वहीं, कांग्रेस ने दिग्विजय के पार्षद कार्यकाल से लेकर वर्तमान तक की एक लघु बायोग्राफी जनता के बीच पेश करने की तैयारी की जा रही है। बैरसिया, सीहोर और भोपाल शहरी क्षेत्र में हर नेता को एक लक्ष्य दिया गया है। कितना भी बड़ा नेता हो दिग्विजय ने महज 6 ही बूथ का लक्ष्य दिया है। जिन पर सबसे अधिक मेहनत करने को कहा गया है। हिदायत दी गई हैं कि अन्य बूथ पर ध्यान नहीं देना है। वहीं, कार्यकर्ताओं को भी अपने-अपने क्षेत्र से बाहर नहीं जाने दिया जा रहा है।


क्या कहा था साध्वी ने
दिग्विजय सिंह के खिलाफ उम्मीदवार बनाए जाने के बाद पहली बार भाजता नेता साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने गुरुवार को पत्रकारों से बात की। इस दौरान वो जेल के दिनों को याद करके रोने लगीं। उन्होंने कहा कि जेल में दिनभर मुझे पीटा जाता था। पीटनेवाले तो बदल जाते थे लेकिन पिटने वाली वो अकेली ही रहती थीं। साध्वी ने कहा कि अब एनआईए भी मान चुकी है वो आतंकवादी नहीं है। साथ ही उन्होंने कहा कि जेल में 24 दिनों तक सिर्फ पानी दिया गया था, अन्न का एक दाना भी उन्हें नहीं दिया गया।

Source : Agency